रूठी रानी | Roothi Rani

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
शेयर जरूर करें
Roothi Rani by मनोहर सिंह राठौड़ - Manohar Singh Rathaud
लेखक :
पुस्तक का साइज़ : 1.7 MB
कुल पृष्ठ : 136
श्रेणी :
हमें इस पुस्तक की श्रेणी ज्ञात नहीं है | श्रेणी सुझाएँ


यदि इस पुस्तक की जानकारी में कोई त्रुटी है या फिर आपको इस पुस्तक से सम्बंधित कोई भी सुझाव अथवा शिकायत है तो उसे यहाँ दर्ज कर सकते हैं |

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

मनोहर सिंह राठौड़ - Manohar Singh Rathaud

मनोहर सिंह राठौड़ - Manohar Singh Rathaud के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है | जानकारी जोड़ें |
पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश (देखने के लिए क्लिक करें | click to expand)
दूसस द्रश्य एक तालाव खोदा जा रहा है । कुछ मजदूर काम कर रहे हैं । उनकी पारिश्रमिक के रूप में कोड़े मिल रहे हैं । जो भी इस रास्ते होकर जाता है उसे दो टोकरी मिट्टी खोद कर वाहर लाकर डालनी होती है - यही राजा की आज्ञा है । सिपाही इस आज्ञा का पालन क्रूरता से करवा रहे हैं । मंच पर सिपाही सुस्ताते दिखायी देते हैं । तालाव पीछे को बन रहा है । दोपहर वाद का समय । पर्दा खुलता है । खड्ग सिह का प्रवेश । सिपाही हड़बड़ा जाते हैं ॥ सिपाही - एक साथ खम्मा सरकार खम्मा खदग सिंह - यह ठीक है । तुम लोग सो रहे थे । इस वीच इस रास्ते से कुछ राहगीर निकल जायें तो इतनी टोकरी मिट्टी विना डले रह जायेगी । वो कौन डालेगा ....... बताओ ....... वताओ ? शेर सिंह - नहीं सरकार नहीं । इस रास्ते हम से पूछे विना पंछी भी पर नहीं मार सकता आदमी की क्या विसात ? हम सोने का बहाना कर के आने- जाने वालों की निगरानी करते हैं । खडग सिंह - शाबास यह अच्छा तरीका है । यह बताओ तालाव का काम कैसा चल रहा है ? शेर सिंह - चलेगा सरकार खूब अच्छा चलेगा | इस रास्ते से जाने वाले अपने आप तीन-तीन टोकरी मिट्टी डाल देते है । जो कोई आनाकानी करे उसकी ऐंठ निकालने को उससे चार टोकरी डलयाते हैं । खडूग सिंह - वाह मेरे जवानों वाह यह प्रजा होती ही पीसने के लिये 1 इसमें बड़ा मजा आता है सीधे मुंह चात करने से ये सभी सिर पर चढ़ते 1 इनको ठीक करने का एक ही तरीका 5




  • User Reviews

    अभी इस पुस्तक का कोई भी Review उपलब्ध नहीं है | कृपया अपना Review दें |

    अपना Review देने के लिए लॉग इन करें |
    आप फेसबुक, गूगल प्लस अथवा ट्विटर के साथ लॉग इन कर सकते हैं | लॉग इन करने के लिए निम्न में से किसी भी आइकॉन पर क्लिक करें :