समाधान ज्योति | Samadhan Jyoti

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : समाधान ज्योति - Samadhan Jyoti

एक विचार :

एक विचार :

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about आचार्य श्री नानेश - Acharya Shri Nanesh

Add Infomation AboutAcharya Shri Nanesh

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
ममाधान ज्योत थ करना चाहिये। प्रशन ४३- नवकार मत्र के जापका क्या साधन है ? उत्तर - माला, अनानुपूर्वी। प्रश्न ४४- पाँच पदो में गोचरी कितने पदवाले करते है ? उत्तर - सिद्ध भगवान को छोडकर शेष चार पद वाले | प्रश्न ४५- पाँच पदों में अक्षर की अपेक्षा सबसे छोटा पद कौन सा है। उत्तर - णमो सिद्धाण। प्रश्न ४६- पाँच पदों में रूपी कितने, अरूपी कितने ? उत्तर - सिद्ध अरूपी, शेष शरीर व कर्म की अपेक्षा रूपी। प्रश्न ४७- नवकार मत्र का छोटा रूप क्या है ? उत्तर - असिआउसा | अरिहन्त का - “अ




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now