संक्षिप्त जैन इतिहास भाग ३ खंड १ | Sankshipt Jain Itihas Bhag Teen Khand Eak

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : संक्षिप्त जैन इतिहास भाग ३ खंड १ - Sankshipt Jain Itihas Bhag Teen Khand Eak

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about कामता प्रसाद जैन - Kamta Prasad Jain

Add Infomation AboutKamta Prasad Jain

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
[१३ ] जमु० (ठ8.)-जन सृत्राण ( 85. 14. 807168, ५०३. ज 51 & 1১৬১. जम्बू०-जम्बूकुमार चरित्‌ (माणिकचन्द्र प्रन्थमाठा, बम्बई) ¦ जसाइं०--प्रो ०एस० भार ० शर्मा कृत जनीज्म इन साठथ इंडिया | टॉरा०-टेंडिसा० कृत राजस्थानका इतिहास वेडेटेश्वर प्रेत । डिजवा०- ए डिकूशनरी ज।फ जन बाये ग्रफो ? श्री उमरावसिह टाक ( आरा ) | टम्मु०- ए गाइड ट रक्ष शछा?-सा जान माग्शठ (१९१८)। तत्वाथे ०-तत्थाथ विगमसुत्र श्र उम।स्वाति 8. 1२. 0. ५ए०].। तिप०=‹ तिल्लोय १०णत्त ! श्री यति वृषभाचारय ( जन हितैषो মাও (३ अंक १२ ) | दिज०-'दि० जन मासिक पत्र सं» श्रो० मृ्चन्द किसनदास कापढिया ( सूग्त ) | दीनि-०दीघान$|८? ( |? 1 5.) नाच०--नायकुमार च.+उ ( माणिकचद्र प्रेथम/।छा, बम१ई )। ए२०-यरिशिष्ट पव-श्री हेमचन्द्र।चाये । प्राजकेस ०-11चीन जन लेख संग्रह कामतःप्रमाद जन (वर्धा)। प्रसा०>्यत्रचनसार, प्र।० ए०एन०उपाध्ये द्वारा संपादित बेबई | बविओ जस्मा०-बग।छ, बिहः, ओडीला जन स्मारक- प्री ० ब्रह्म बागी शीतछप्रसादजी (सुग्त)। बजत्मा०--बंबई प्रांतके प्रतचीन जन स्मारक ब्र०शीतइप्रसादनी | बुह०व्युद्विष्ट इंडिवा प्रॉ० होत डेविड्स | बुस्ट०व्युद्धिल्टिक स्टढी न, ४1० विमहचरण ढा द्वारा संपादित कलकत्ता |




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now