नागरिक शास्त्र भाग २ | Nagrik Shastra Part -2

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : नागरिक शास्त्र  भाग २  - Nagrik Shastra Part -2

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about अज्ञात - Unknown

Add Infomation AboutUnknown

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
दो शब्द मध्यप्रान्त के शिक्षा-विभाग को * धन्यवाद देता हूँ कि उसने हाई-स्कूलों के लिये भी “ नागरिक-शासत्र ? का - विषय पाठ्य-क्रम में निर्धारित कर दिया हे । यह पुस्तक हाई-स्कूल की दसवीं कक्षा के लिये नूतन शिक्षा-क्रम ( सन्‌ १६४७० ओर १६४१) के अनुसार लिखी गई है। प्रथम ओर तीसरा भाग प्रकाशित हो चुके हैं। पुस्तक विद्यार्थियों के लिये लिखी गई है, लेकिन यह सवे-साधास्ण के लिये भी बहुत लाभदायक है, क्योकि इसके विपय ऐसे हैं (फेडरेशन, प्रान्तीय स्वाराज्य, देशीरियासतें, कर, बन्दोबस्त, केन्द्रीय ओर प्रान्तोय सरकारों के आयके साधन, प्रान्तीय तथा केन्द्रीय. धारा-सभाएँ इत्यादि ) जो सामान रूप से प्रत्येक नागरिक के लिये अत्यन्त उपयोगी हैं । लेखक महोदय के विपय में केवल इतना लिख देना पर्याप्त होगा कि आप इस प्रान्त के गवनमेन्ट हाईस्कूलों की दसवीं ओर ग्यारवीं कक्षाओं के विद्याथियों को अंग्रेजी, हिन्दी, इतिहास, ओर नागरिक-शाख लगभग १९ वर्पो से पढ़ाते हैं ओर आप एडिनवर्ग युनिवर्सिटी, ग्रेट ब्रिटेन की टो. डी (জা) विद्यार्थी भी रह चुके हैं, किन्तु स्वास्थ खराब होने से सेशन पूर्ण होने के पूव ही भारत वापस आजाना पड़ा । आप अलीगढ़ युनिवर्सिटी के ला (क्लास ) के विद्यार्थी भी रह चुके हैं । प्रायः समस्त भारतवषे,' स्कौटलेन्ड; इंग्लेण्ड, फ्रान्स, स्विटजरलेण्ड, इटली, कैरो, एडन इत्यादि देशों का आपने




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now