श्रीमद देवचंद्र | Shri Mada Devchandra Padha-piyoush

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : श्रीमद देवचंद्र - Shri Mada Devchandra Padha-piyoush

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about श्रीमद् जयाचार्य - Shrimad Jayacharya

Add Infomation AboutShrimad Jayacharya

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
अठारहवी शताब्दी के महान्‌ संत; आदर्श विभूति, जैन-आगम साहित्य के _प्रकाँड पृडित तथा जैन-द्रव्यानुयोग के प्रखर अ्रध्येता एव व्याख्याता श्रीमद्‌- देवचन्द्र जी की कुछ प्रकट-अ्रप्रकट रचनाश्रों का सग्रह “श्रीमद्‌ देवचन्द्र पद्यपीयूष” पुस्तक का सम्पादन श्रीमद के चररणो मे श्रद्धांजलि श्र्पण। करने का मेरे लिए एक अपूर्व एवं सुन्दर अवसर है । परम पूज्य गुरूदेव मुनिराज श्री जयानन्दमुनिजी महाराज साहब पाली -चतुर्मास के वाद नागौर जाते हुए जब जोधपुर पधारे तब मै कुचल भवन.मेश्रापश्री के दर्शनार्थ गया । उस समय महाराज श्री ने प्रस्तुत पुस्तक की प्रेस कॉपी मुझे दी शभ्रौर बोले इसे देखिए, छपवाता प्रेस कॉपी का अवलोकन कर मैंने कुछ सुकाव महाराज श्री के सम्मुख रखे । : , भेरे सुझावों को-सुनकर महाराज श्री ने कहा “आप जैसा चाहे” उस तरह के सुधार करे, इसके संपादन की जिम्मेदारी आपको ही उठाना है । मैं संकोच मे पड गया ! मेरे पास न तो आध्यात्मिक पृष्ठ भूमि है नही जैतत तत्व ज्ञान का गहरा अध्ययन है, ओर न प्राचीन भाषाओं का परिपक्व ज्ञान दही। ऐसी वस्तु-स्थिति मे किस आधार पर इस पुस्तक के सम्पादन की जिम्प्रेदारी स्वीकार करता | पर महाराज श्री की थ्राज्मा को अस्वीकार करना भी मेरे लिए सभव नही था । अतः गुरूदेव के आशीर्वाद व मार्ग दर्शन का संवल प्राप्त कर मैंने इस पिम्मेंदारी को स्वीकार कर लिया । |




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now