भारतीय और योरोपीय शिक्षा का इतिहास | Bhartiya Aur Europeae Shiksha Ka Itihas

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
शेयर जरूर करें
Bhartiya Aur Europeae Shiksha Ka Itihas by पं. सीताराम चतुर्वेदी - Pt. Sitaram Chaturvedi

एक विचार :

एक विचार :

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

पं. सीताराम चतुर्वेदी - Pt. Sitaram Chaturvedi के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है | जानकारी जोड़ें |

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(देखने के लिए क्लिक करें | click to expand)
( १० )र १३. शिक्षा-शास्त्रके कुछ नवीन प्रयोग ... .. द विश्लेषण, संश्लेषण तथा परिणाम-सिद्धान्त-प्राल्री, विश्लेषण-परणाली, सिद्धान्त-प्रणाली ( डिडक्टिव मैथड ), संश्लेषण-प्रणाल्ली { हिन्धेटिक मेथड ), परिणाम-प्रणली ( इंडक्टिव मेथड ) षिश्लेषण-सदलेषण-प्रणाली ( ऐनेलिथिको सिन्धेरिक मेथड ) विश्लेषण तथा परिणाम-प्रणाली ग्राह्म है, बुद्धि-परीक्षा, बुद्धिफल निकालनेका नियम, बुद्धिफल ( इन्टेलिजेन्स कोशेट ), मनोविज्ञानका अतिवत्तन हानिकर, सयानो और विकर्ांगोंकी शिक्षा, सयानोंक्री शिक्षा्मेनागरिकताके पाँच भाव ।




User Reviews

अभी इस पुस्तक का कोई भी Review उपलब्ध नहीं है | कृपया अपना Review दें |

अपना Review देने के लिए लॉग इन करें |
आप फेसबुक, गूगल प्लस अथवा ट्विटर के साथ लॉग इन कर सकते हैं | लॉग इन करने के लिए निम्न में से किसी भी आइकॉन पर क्लिक करें :