आर्थिक सफलता | Aarthik Safalta

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Aarthik Safalta by शिवसहाय चतुर्वेदी - Shivsahaya Chaturvedi

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

Author Image Avatar

पंडित शिव सही चतुर्वेदी का जन्म मध्य प्रदेश के सागर जिले के देवरी नामक गांव में हुआ था | इन्होने कई पुस्तकें लिखीं किन्तु समय के साथ साथ उनमें से कुछ विलुप्त हो गयीं | ये एक अमीर घराने से थे और बचपन से ही कला में रूचि रखते थे |
इनके वंशज आज जबलपुर जिले में रहते हैं और शायद ये भी नहीं जानते कि उनके दादाजी एक अच्छे और प्रसिद्ध लेखक थे | इनके पौत्र डॉ. प्रियांक चतुर्वेदी HIG 5 शिवनगर दमोहनाका जबलपुर में निवास करते हैं |

Read More About Shivsahaya Chaturvedi

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
मानसिक झुका 1 श्र सौर तुम्दोर मनमें भी सफटताकें विचार दौड़ने छगेंगे । यदि सुम फिसी ऐसे रथानकोा जामे। जा शोक या दु:खसे व्याप्त हो, तो बह्ढी जाफर तुम भी उसी तरद गमीर और शोकयुक्त बन जामेंगि । कई टोग निष्फटता, साइसद्ीनता और * इम नहीं कर सकते की रोनी सूरत डिए किरा करते हैं । क्या ऐसे ठोगोका असर तुमपर नहीं पढ़ता ? अब्र्प पढ़ता है । इसी तरह. साइसी निरिचन्त दर कर्मशीट पुरी सगतिसे लोगोंगे नया जीवन, नपा उत्साह सर नया बड़ आता है । एक रामी सूरतंक आादम्मीरं। तुम अपने सामने खां पर! पर फिर देग्दे कि तुम्टार सनमें कस भाव उठते है--तुमपर उसका कैसा प्रभाव पढ़ता है ” प्रत्येव, सादमी एक हरदकी +दवासि घिरा रहता ६ । यह हवा अपने विचार जीर मानसिय झुकाबवे; अनुरूप टुआ करती ६ ।. अमेरिका, एव, प्रा्तिद्ध परिद्धानू एमरसन साइव फहते है. कि-'' जब एक स्वस्थ चिच बार निमेट ददय पुरुष अपने मनमें किस मठे विषयक विचार या चिस्तबन परत है, तब यह विचार सारा दुनियंमरको भा बनाता | बटुचा हम टगोंका एक ही नजरमें पसंद या नाप- + साधुनसंता, महापुरषी था. आयाप्याय मुलमभ्शलपर जो ल्ज दा भ्रहदा दिखाई देता दे, उसे दिस्दुचर्ममे * तजस' जरपें हमें * सोःगेह सर इंसाई पे * नोकस ' * आार्े्। * * हूंदी या करे कल । बादल, दिशानदेला इसे * भोटाइल या. टेप तप 271 बबइ! रताध्तपच बॉवाजकुदित्यर बहने द (इस दिएमका पटना सोप देर राइुबन बने विदा दा ये लत्दददाल रसादसदद रु, गुरू भट दिदारम उतहा बनुमोदन विदा । एपीरए'्के, झादा देह भर बा. हप्पू, पब बइ दे उमे सप्मत थे । बत्में इग्टइस से भर बरामदपेद कक




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now