आठ एकांकी नाटक | Aath Ekanki Natak

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
Book Image : आठ एकांकी नाटक  - Aath Ekanki Natak

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about डॉ रामकुमार वर्मा - Dr. Ramkumar Varma

Add Infomation AboutDr. Ramkumar Varma

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
या रहस्य एक्ट्रेस चंपक दस मिनट रेशमी टाई वारुसित्रा एक तोला अफीम की क्रीमत रजनी की रात स्त्री और पुरुष कोयले की अच परीक्षा आादि इनकी उच्चकोटि की रचनाएं हैं । इनमें से कोई सी एकांकी पश्चिम के सफल एकॉँकी की टक्कर में रक्‍्खा जा सकता है । रचना के परिमाण शोर उत्कष्टता दोनों के श्ाधार पर राम कुमार जी को हम एकांकी-सम्राट कह सकते हैं । बड़े नाटक के खेत्र में जो स्थान प्रसाद जी का हे उपन्यास के क्षेत्र में जो स्थान प्रेमचन्द का हैं एकॉंकी साहित्य में वही उच्च स्थान राम कुमार जी काहें। विश्वविद्यालय में एक उत्तरदायित्व के पद की आवश्यकताओं की समुचित पूर्ति करते हुए काव्य और शालोचना साहित्य की श्री वृद्धि करते हुए वर्मा जी एकांकी नाटकों के निर्माण में रहते हैं । ऐसा प्रतीत होता हैं कि वे एकॉका-साहित्य के शिशु को बहुत थोड़े समय में विक- सित श्र प्रौ़रूप में देखना चाहते हों । स्वयं एक आलोचक होने के नाते रामकुमार जी अपने नाटकों को एकॉंकी के आवश्यक गुर्णों से विभूषित कर देते हैं । इनके नाटकों की प्रधान विशेषताएँ हैं--कथानक में कुतूदल का सुन्दर-सजन श्रोर चरित्र-चित्रण में झांतरिक संघष का मनोवेज्ञानिक विश्लेषण । नाटक के छन्तद्वन्द्दर को आप अधिक महत्व देते हैं । संभाषण की लड़ी में घटनाएँ मोतीं के समान गुँ थी रहती हैं जिनका एक एक शब्द अपना निश्चित स्थान और मूल्य रखता हैं । आपके नाटक परिस्थिति और काल की परिधि में नहीं बाँघे जा सकते । इनमें मानव-जीवन का अनन्त दशन है । मानव-जीबन को संचालित करने वाले मनोवेज्ञानिक तथ्यों के पहचानने की ाप में अदभुत क्षमता हे । शेली में झापका व्यक्तित्व स्वयं बोलता है । एकांकी




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now