पत्रकार - कला | Patrakar - Kala

Book Image : पत्रकार - कला - Patrakar - Kala

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about विष्णुदत्त शुक्ल - Vishnudutt Shukla

Add Infomation AboutVishnudutt Shukla

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
पथम संस्करणका निवेदन नाव कफुल्टननलम्मन्यद धत्रकार बनने की प्रग्नति हिन्दी संसारमें बढ़ रही है। इस बढ़ती हुई प्रति के अनुरूप साहित्य की आवश्यकता है । “पत्रकार-कला” द्वारा कुछ अंदोमिं इसी आवश्यकता की पूतिं करने की चेष्टा की गयौ है। इस व्यवसाय की ओर आकृष्ट होनेवाठे सजन प्रारम्भिक ज्ञान प्राप्त कर सकें जिससे उनका नवीन जीवन- पथ कुछ साफ हो जाय, यही इस पुस्तकका उद्देश्य है। इसमें यह प्रयन्न किया गया है कि पाठकोंके सामने पत्रकार-कला सम्बन्धी सेद्धान्तिक और व्यावहारिक- दोनों प्रकार की अधिक-से-अधिक बातें पहुंच जांय। इस प्रयलमें कहां तक मफ़लता मिली है इसका विवेचन करनेका अधिकार मुझे नहीं है । अस्तु । इस पुरतकके लिखनेमें सहायक ग्रन्थों और पत्रोंके अतिरिक्त, जिनका उत्लेख अन्यत्र मिलेगा, सबसे अधिक और बहुमूत्य सहायता मुझे श्रद्ध य गणेशशञ्ुरजी विद्यार्थी द्वारा प्राप्त हुई है । प्रस्तुत पुस्तक उन्हीं की प्रेरणा और शिक्षाका फल है। गणेशजीके अतिरिक्त “विशालभारत” सम्पादक़ श्री बनारसीदासजी चतुर्वेदी तथा “कर्मबीर' सम्पादक श्री- माखनलालजी चतुर्वेदी ने भी अपने सत्परामर्श और प्रोत्साइन द्वारा सहायता प्रदान की है। में अपने इन आदरणीय सद्दायकोंके प्रति हादि क कृतज्ञता प्रकट करता हू । विष्णुदत्त शुक्त




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now