सर्वोदय - विचार | Sarvodaya Vichar

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Sarvodaya Vichar by विनोबा - Vinoba

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about आचार्य विनोबा भावे - Acharya Vinoba Bhave

Add Infomation AboutAcharya Vinoba Bhave

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
विचार के लिए चार प्रदन ७ की पावनता का आधार लेकर हमारा संसार हम वैसे ही चलावेंग,, तो अच्छा नाम भी दुरनाम वन जायगा । रचनात्मक कार्यकर्त्ता-सम्सेलन सेवायाम, १३ सार्च, १९४८




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now