हिन्दी मुहावरा कोश | Hindi Muhavra Kosh

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : हिन्दी मुहावरा कोश - Hindi Muhavra Kosh

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about डॉ भोलानाथ तिवारी - Dr. Bholanath Tiwari

Add Infomation AboutDr. Bholanath Tiwari

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
अंक करना-स्वीकार करना । उ० भगवान सुख-दुख जो भी दे उसे अक करो । अंक देना-१ गले लगाना । उ० होली के दिन लोग दुश्मन को भी अक देते हैं । २. नम्बर देना । उ० राम को परीक्षा मे अच्छे अक दिये गए हैं । अंक भरना-लिपटा लेना, गोद मे भर लेना । उ० कौशल्या ने अक भरकर सीता को विदा दी । अंकमाल देना-दे० 'अक लगाना १. । अंक लगना-गले लगना । उ० आज वे दोनों अक लगे । अंक लगाना-१ आरलिंगन करना, गले लगाना । उ० परीक्षा मे पास होने की खुशी मे उसने अपने जानी दुश्मन को भी अक लगाया । २ नम्बर डालना । उ० आजकल प्रृष्ठो पर अक लगाने के लिए एक मशीन का आविष्कार हो गया है। ३ नबर देना । अंक लेना-१ आलिंगन करना । २ गोद मे लेना। अेकवार देना-दे० 'भक देता १ । मेकवार भरना-१ लिपटा लेना, गले लगाना । उ० विदाई के समय औरतें अपने प्रियजनो को अँकवार भरती हैं। २ गोद भरना, बाँझ न रहना । उ० भगवान न करे कि दुराचारिणी स्तियो की कभी अँकवार भरे । मंकित करना-१ अच्छी तरह जमा देना, छाप लगा देना । उ० मैं ही जानता हूँ कि गरीबी ने धनिको के प्रति कितनी घृणा मेरे हृदय पर अकित कर दी,है। २ बनाना, चिव्नित करना । उ० उसने कपड़े पर गाधी जी का एक बडा सुन्दर चित्र अकित किया है । अमकित होना-बेठ जाना, जम जाना । उ० उसकी करुण मृत्य का दृश्य मेरे हृदय-पटल पर स्वेदा के लिये अकित हो गया है । मंकुरित होना-प्रारम्भ होना, उगना। उ० तुम्हारे शी मन मे विद्रोह अकुरित होने लगा है । अंकुश देना-१ दबाव डालना । उ० अकुश देकर काम कराना मुझे वित्कुल पसद नही । अं २. वश में करना, वश मे रखना, नियत्रण रखना । उ० लड़कों पर अंकुश देना बहुत ही आवश्यक है। ३ दुख देना । उ० यर्दि आप अकुश देंगे, तो मुझसे फूल की आशा कंसे कर सकते हैं । मंकुश मानना-दबाव मानना । उ० बडो का अकुश कौन नहीं मानता ? अंकुश रखना-दवाव मे रखना, स्वतत्नता न देना । उ० अकुश न रखने से लड़के बिगड जाते हैं । अंकुश रहना, अंकुश होना-नियंत्रण रहना, नियत्रण होना । अंखिगर बनना-१ देखने वाला बनना, अखिवाला बनना। २. होशियार बनना। उ० मुझसे अंखि- गर न बनिए, मैं आपकी रग-रग से वाकिफ हूं । मेंखिफोर होना-बुद्धिमान होना । उ० आप अँखि- फोर है, तो अपने घर के । मुझे शिक्षा न दें । अंग-मंग-प्रत्येक अग, पुरा शरीर । उ० मारकर अग-मग तोड़ दूंगा । अंग-अम खिल ज्ञाना-१ जवानी आना । २ प्रसन्नता अग-अग से टपकना । अग-अग टूटना-बदन मे दर्द होना । उ० अग- अग टूट रहे हैं । लगता है कि ज्वर आयेगा । अंग-मंग ढीला होना-दे० “अय ढीला होना ।' मंग-अंग फूले न समाना-दे० *अग फूले न समाना ।' अंग उभरना-जवानी के लक्षण दिखाई पड़ना । उ० शादी की चिंता करो, सीता के अग उभरने लगे हैं । अंग करना-अपनाना, स्वीकार करना । उ० भगवान ने जो दिया उसे अग करो । अब पछताने से क्या होगा * अंग छूना-अग या सर छूकर शपथ खाना । उ० यह वात तुम्हारे अग छूकर भी मैं कहने को तैयार हें । अंग टूटना या टूट जाना-१ दरें होना । उ० आज मेरे अग टूट रहे हैं। २ थक जाना, शिथिल हो जाना । ३ काम करते-करते आज अग टूट गए ।




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now