डॉ॰ हरिवंश राय बच्चन के काव्य का काव्य - शास्त्रीय अध्ययन | Dr. Harivansh Ray Bacchan Ke Kavya Ka Kavya - Shastriy Adhyayan

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
शेयर जरूर करें
Dr. Harivansh Ray Bacchan Ke Kavya Ka Kavya - Shastriy Adhyayan  by स्नेहलता - Snehlata

एक विचार :

एक विचार :

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

स्नेहलता - Snehlata के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है | जानकारी जोड़ें |

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(देखने के लिए क्लिक करें | click to expand)
1 6 हर .डिप्टी इन्सपेक्टर बाहू शिव कृमार सिंह की कृपा से आपको हिन्दी वियगया ओर आपने द्वितीय स्थान प्राप्त किया 1इसके बाद जुलाई 1919 में इनका नाम कायस्थ पादशाला में छठें दर्जे में लिखा दिया गया । वहीं ते इन्होंने हाईस्कूल की परीक्षा ई-स. 1925 मैं द्वितीय ग भँ उत्तीर्णं की । ई. स. 1926 मे बच्यन जी ने मवर्नमेलिखा -लिया । अक संकोच सायंकाल 8-10 पये क ई. स. 1927 में इन्होंने इण्टर किया । ई. च. 1929 में इन्होंने हल द विधालय से पाइचात्य दर्शन अंग्रेजी साहित्य और हिन्दी लेकर प्रथम श्रेणी में बी... _ श. पास किया । 1950 में इन्होंने अंग्रेजी साहित्य में श्म. र. पूवाद्ध की प _ उत्तीर्ण की तत्पशचात्‌ कालेज छोड़कर गाँधी जी के सत्याग्रह आन्दोलन में भाग लिया । कुछ पारिवारिक चिन्ताओं और राजनी तिक गतिविधियोंके कारण . उनका पढ़ाई मैं मन नहीं लगा और पढ़ाई छोड़ दी । इती समय गाँधी जी का. सत्यागट-आन्दोलन, अतहवोग-आन्दोलन चल रहा था ~ युवा भारत को अंगेजों के पंजे तेमें भाग लेते हुए नमक बनाने तथा चरखा चलाने के अतिरिक्त ग दम -गोव पं जाकरका कार्थ करते रहे ।व्याख्यान देने ई. स. 1938 मे इन्ोने एम. ए. का द्वितीय वर्ष उत्तीर्णट्रेनिंगनंग कालेज ते बी. टीडॉनि ई. स. 19359 मैं बनारस ट्रे।




User Reviews

अभी इस पुस्तक का कोई भी Review उपलब्ध नहीं है | कृपया अपना Review दें |

अपना Review देने के लिए लॉग इन करें |
आप फेसबुक, गूगल प्लस अथवा ट्विटर के साथ लॉग इन कर सकते हैं | लॉग इन करने के लिए निम्न में से किसी भी आइकॉन पर क्लिक करें :