आधुनिक हिंदी - काव्य - शिल्प | Adhunik Hindi Kavya Shilp

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Adhunik Hindi Kavya Shilp by डॉ. मोहन अवस्थी - Dr. Mohan Avasthi

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about डॉ. मोहन अवस्थी - Dr. Mohan Avasthi

Add Infomation About. Dr. Mohan Avasthi

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
अध्याय ८ : आषा ३०३-३५४ भाषा-- लिंग-बचन आदि--शब्द-मं डार--तत्सम शब्द-प्रयोग--प्रान्तीय प्रयोग--ब्रजमाषा-प्रयोग-- उदँ-प्रयोग--अगरेज़ी-प्रथोग --बँगला-प्रयोग-- सर्वनाम--क्रिया-रूप--समास-विधान--वाक्य-विन्यास-- मुहावरे तथा लोको- तियाँ- नये मुहावरे-नवीन-शब्द-रूप-नये प्रयोग--नवीन शब्द्‌ रचना -नये अथे--पुनरावृत्ति---सम्बादात्मकता--चित्रात्मक भाषा । उपसंहार : ३५५४-- ३६ रे परिशिष्ट : ३६६-३८० ॥ नामानुक्रमण-- ग्रं थानुक्रमण संक्षिप्त रूप सु ० শি संस्करण নও --- . प्रथम द्वि० --- द्वितीय तु० -- वतीय च० -- चतुथं पं०, पाँ०-- पंचम, पाँचवाँ छ० বি छ्ठा स ०, स{०-- सप्तम, सातवाँ ॥ श्र ० শা अष्टम्‌ [ न° --- मवद सो - सोलह दे ० --- देखिए. तु० -- उठंलना कीजिए वि° -- विक्रम संवत्‌ नः --- हस्व उच्चारण दृष्टव्य- कृपया पृष्ठ ३६ की प्रथम पक्ति मे पुनस्थोपन के स्थान पुनः स्थापन करलं ।




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now