मध्यकालीन भारत | Madhyakalin Bharat

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी : ,
शेयर जरूर करें
Madhyakalin Bharat by Romila Thapar

एक विचार :

एक विचार :

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

रोमिला थापर - Romila Thapar के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है | जानकारी जोड़ें |

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(देखने के लिए क्लिक करें | click to expand)
ही हक. मध्यकालीन भारत 2 हमारे इतिहास का पूर्व मध्यकाल | 2 बंगदाद का खलीफा था। 3 मध्यकाल में भारत के बाहर से | 3 मध्यकाल से होता है। लोगों का आगमन 4 हारुन-उल-रशीद जिसका दरबार | 4 यूरोप के इतिहास में प्राय अंधकार संपूर्ण संसार में प्रसिद्ध था। युग कहलाता है। 5 पाँचवीं शताब्दी से ग्यारहवीं 5 आठवीं और तेरहवीं शताब्दी के शताब्दी तक का समय बीच में माना जाता है। कोष्ठ में दिए हए सही शब्द या शब्दों से नीचे लिखे वाक्यों के रिक्त स्थानों की पूर्ति करो 1. मंगल साम्राज्य के पतन और अंग्रेंजों के आगमन के साथ.......... .......शताब्दी में देश में अनेक परिवर्तन हुए। आठवीं दसवीं अठार्रहवीं 2. अंधकार युग में................ में होने वाला दूसरा महत्वपूर्ण परिवर्तन सामंतवादी व्यवस्था का विकास था। एशिया अफ्रीका भारत यूरोप । ं बन उस बैजंटाइन साम्राज्य की राजधानी थी जो किसी समय................ का प्रतिद्वंद्वी था। कस्तुनतुनिया अनातूलिया बगदाद भारत चीन रोम 4. 13वीं शताब्दी के मध्य से 14वीं शताब्दी के सध्य तक मंगोल................ में शासन करते रहे। भारत चीन इराक तुर्की दर 5. पैगंबर की मत्य के बाद................ के ऊपर खलीफाओं का शासन चलता रहा। निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दो 1. अरबों ने अपनी शक्ति का विस्तार किस प्रकार किया? ं 2. मंगोल कौन थे? उन देशों के नाम बतलाओ जिन पर उन्होंने आक्रमण किया। 3. ईसा की पाँचवीं से लेकर ग्यारहवीं शताब्दी तक का काल यूरोप के इतिहास का अंधकार-युग क्यों कही जाता है? 4. भारतवासियों का संपर्क अरब और चीन के निवासियों के साथ किस प्रकार स्थापित हुआ? करने के लिए रुचिकर कार्य 1. यूरोप एशिया और अफ्रीका के मानचित्र में उन स्थानों को दिखलाओ जिन पर अरब निवासियों ने विजय प्राप्त की थी। 2. संसार के मानचित्र में उस मार्ग की प्रदर्शन करो जिसके द्वारा विदेशी भारत में व्यापार करने के लिए आए।




User Reviews

अभी इस पुस्तक का कोई भी Review उपलब्ध नहीं है | कृपया अपना Review दें |

अपना Review देने के लिए लॉग इन करें |
आप फेसबुक, गूगल प्लस अथवा ट्विटर के साथ लॉग इन कर सकते हैं | लॉग इन करने के लिए निम्न में से किसी भी आइकॉन पर क्लिक करें :