कौटिल्य अर्थशास्त्र | Kautilya Arthasastra

6 6/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : कौटिल्य अर्थशास्त्र  - Kautilya Arthasastra

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about कौटिल्य 'चाणक्य' - Kautilya 'Chankaya'

Add Infomation AboutKautilyaChankaya'

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
ही. विपय सूची । नजर कि पृथ्वी के लाभ तथा पालन के सम्बन्ध में पूर्व झाचाय्यों ने जितने अ्थ शास्त्र लिखे प्रायः उनका संग्रह कर यह एक , अथ शास्त्र बनाया गया । उसकी विषय सूची निम्नलिखित हे । विषय सूची पृष्ठ संख्या | १ अधिकरण विनयाधिकार १-३६ विद्या--विपयक्त विचार श्‌ बुद्ध सयाग श्र ड्ान्द्रिय जय दद अमात्योत्पात्ति मंत्रि तथा पुरांहित की नियुक्ति श्० २ उपायों से. अमात्यों के हृदय की. सफाई तथा खोाटकी परीक्षा ६ खुफिया पुलिस की नियुक्ति श्द खुफिया पुलस का प्रयाग तथा प्रबंध श्छ अपने देश मे दाजुओं के वश में आनेबाले तथा न 'झाने वाले लागा के द्वारा स्वपक्ष का रक्षण श७ परदेश में रुत्य तथा अकृत्य पच्तके लोगों को चशक्ने करना श्र गुप्त चिचार तथा मंत्रणा २२ दूत का प्रयोग तथा घर “व गा नन्न पद राज कुमार की रक्षा २३७ बंघन में पड़े राज कुमार का कत्तेब्य - राजा का प्रबंध तथा कर्तव्य ३१ अन्त: पुर का प्रबंध रद श्ात्म रक्षा २ अझधिकरण अध्यक्त प्रचार ३६-१३४ जनयद-नंनबेश ः रे




User Reviews

  • epustaka_book

    at 2018-04-24 07:53:18
    Rated : 6 out of 10 stars.
    [flexible-posts]
Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now