महाभारत भाग 16 | Mahabharat Bhag 16

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Mahabharat Bhag 16  by गंगाप्रसाद शास्त्री - GANGAPRASAD SHASTRI

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about गंगाप्रसाद शास्त्री - GANGAPRASAD SHASTRI

Add Infomation AboutGANGAPRASAD SHASTRI

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
5५ ९ रे वें भाग की विषय यूची धर्मराज का धर्म मिहुपण करना,धर्मंगर को बेड व्यास द्वारा सममाना, सोलह राजाओं दा जारयान, सुबर्यध्ीयी उ्पास्थान, व्यासनी का मयम्ित कर्म विधि का वर्णन, व्यासजी का धर्मराज्ञ को प्रावशित फा उपदेश करना। १ से ११४ व्यासजी का दात चिधि वर्णन करता, धर्मगज़ का भीष्म से उपदेश लेने को हस्तिनापुर जाना, दार्वाक वध, युधिध्रिर के अभिषेक का चर्णन, भीम प्रादि को अपले २ अधिकार पर नियुक्त फरना, धर्मगज फा श्र किया करने का वर्णन, श्रीकषणा यु्धिध्रिर सम्बाद, मर विभाग का वर्णन, क्षप्ण युधिप्निर सम्मिलन, श्रीट पी फी स्तुति करना। ईस्पसे ६६६ परशुरामोपास्यान, . रामोपास्यान, श्रीक्षप्ण- भीष्म सम्वाद, भीष्म के सम्रीप धर्मराज फा जाना, भीषा श्रीक्षष्ण सस्वाद, भीष्म फा राजधर्स वर्णन, राजाओं का वर्णन, राजा युधिष्ठिर का श्रीक्षप्णादि के साथ हल्तिनापुर जञाना। २०० से ३२६ राजाओं का महत्व वर्णन, वर्णाश्रम धर्म वर्शन, श्र मान्धाता सस्वाद, चारों आश्रमों के धर्म फल का बेसन, वृहपति का नीति बन करना, भीप्म का उपदेश देना | ४ २१२७-७४० बढ




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now