तीन पीढ़ी | Teen Peedhi

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : तीन पीढ़ी - Teen Peedhi

लेखकों के बारे में अधिक जानकारी :

मक्सिम गोर्की - maxim gorki

No Information available about मक्सिम गोर्की - maxim gorki

Add Infomation Aboutmaxim gorki

विजय चौहान - Vijay Chauhan

No Information available about विजय चौहान - Vijay Chauhan

Add Infomation AboutVijay Chauhan

शिवदान सिंह चौहान - Shivdan Singh Chauhan

No Information available about शिवदान सिंह चौहान - Shivdan Singh Chauhan

Add Infomation AboutShivdan Singh Chauhan

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
(९ ११ और सब लोग देखते कि तीसरी वाली निकिता की परछाई पानी पर हिलर्ती और कॉरपती हुई चलती थी । वह दूसरे भाइयों की लम्बी परछाइयोंँ से ज़्यादा भारी-भरकम दिखाई देती थी । ज़ोर की बारिश के बाद एक दिन जब नदी का पानी चढ़ा डुआ था कुबड़े का पाँव कहीं फंस गया या किसी गड्ढे में फिसल गया ओर वह डूब गया । किनारे पर खड़े सभी लोग खुशी से ठह्दाका मारकर हँसते रहे । सिफ शराबी घड़ी-साज़ की तेरह साल की लड़की ओलगा श्रोरलोवा करुणा से चीख उठी-- हाय-हाय वह डूब जायगा / उसे खूब डॉट-डपटकर कह दिया गया-- बे-बात चीख़ा मत कर 1 व्यलेक्सी ने जो .सबसे पीछे चल रहा था डुबकी ठगाई और भाई को पकड़कर फिर से खड़ा कर दिया । सर से पाँव तक गीले और काली मिट्टी से छथ-पथ वे दोनों जब किनारे पर निकल आये तो अलेक्सी सीधा बस्ती के लोगों की शोर बढ़ा । उन्होंने उसके लिए रास्ता छोड़ दिया और उनमें से एक ने डरते- डरते कहा-- आह छुटका जानवर 1 हम लोग इन्हें नहीं भाते प्योत्र ने कहा | उसके बाप ने चलते-चलते उसकी ओर मुड़कर देखा भौर बोला-- थोड़ा वक्त मिल जाय ये लोग हमें चाहने लगेंगे । उसने निकिता को डॉटडा-- सुन बे उल्लू आँखें खोलकर चला कर श्र अपने को सबके हूँसने की चीज़ न बनाया कर । हम लोग भाड़ नहीं हैं बुदद | अतांमोनोव का परिवार अपने ही आप में सिमटा रहता । किसी से जान- पहिचान बढ़ाने की कोशिश न करता । उनके घर का प्रबन्ध काले वेश में रहनेवाढी एक मोटी बूढ़ी औरत करती थी । बह अपने सिर के चारों ओर एक काला रूमाल इस तरह बाँधती कि उसके कोने सींगों की तरह ऊपर को उठ जाते । वह बहुत कम बोलती और ऐसे अजब ढंग से भींचकर शब्द बोठती कि कोई उसकी बात समभ ही न पाता सानो वह रूसी नहीं थी । द्तामोनोव परिवार के




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now