मनोविज्ञान व शिक्षा | Manovigyan Va Shiksha

Manovigyan Va Shiksha by डॉ. सरयू प्रसाद चौबे - Dr. Saryu Prasad Choubey

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about डॉ. सरयू प्रसाद चौबे - Dr. Saryu Prasad Choubey

Add Infomation About. Dr. Saryu Prasad Choubey

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
गू>्सद्धि को सामूहिक परीक्षा ४“यम-४९२ । ५१1 ` च--यैयक्तिक धोर्‌ सामूहिक बुद्धि-परीष्ता की तुलना ४९२-४६३। = ` ক্স का स्वरूप ४६३-४६८, (१) बुद्धिऔर शान ४९५-४९६, (२) थॉनेडाइक ` द कामत ४९६-४१७, (३) स्पीयरमेन का भत ४९७। * রঃ 87 | च-- बुद्धि कोसीमा ५४९८९०० । = . छु--मनोवैज्ञानिकों की भूल ২০০-২০৭। 28 .* ज--वंशानुक्रम झरर वातावरण का बुद्धि पर प्रभाव, ५०१-५०३, ($) बुद्धि और “ वं्ानुक्रम ५०१-५०२; (र) बुद्धिश्नौर वातावरण ५०२-५०३। भ--बुद्धिका वितरण ২০২) ५ । অনসততিাঁতবিফ রং... . 5--क्या शिक्षक ओर विद्यार्थी को बुद्धि-लब्धि से अवशत करना चाहिए? €०६। इ--- बुद्धि परीका के उपयोग ‰०६-५०७। = ` । _ ह--भारतवर्ष में बुद्धि परीक्षी ५८७-५१०, (१) कटिनाश्याँ ५८७-००५, (२) भारतंव में बुद्धि परीक्षा के कुछ प्रयत्न ५०९-५१०, सहायक पुस्तक ५१००५११।- এअध्याय २३টা ज्ञान, स्वभाव ন'জজন্যান-সহীছ্া ৬৫২-৮৭২ || क--स्ान-परीक्ा ५१६.-५११७ (१) बुद्धि-परोक्षा और शान-परोक्षा में भेद ५११-०१३, ` .. (२) शान-परीक्षा की आवश्यकत थे प्रचलित- परीक्षा के कुछ दोष ५१३-५१४, (ই) शान-परीका के प्रश्णों के बनाने की विधि ५१७-५६१५, (४) शान-आयु ५१६, ..... (५) शान-लब्धि ५१६-०१७, (8) शिक्षा-्लब्धि ५१७। 3६ .. ख- स्वभाव वा व्यक्तिस्व-परीक्षा ५४८-५२२। ` १--भावश्यकते ५१८-४१९। 1 2৮১ ... #--रेवभाव-परीक्षा विधियाँ ५१६-०२२, (१) ब्यक्तिगत राय ५१०, (२) साक्षात्‌ कार ५६९) (३) शब्दों द्वारा मनोविश्लेषण विधि ५२०, (४) कागज़ द्वारा परीक्षा ` ` ५२०-५२१ (५) रतिनपरीक्ता ५२१, (६) प्रयोगश्चाला की विधि ५२१-५२२। . -श्राललोचना ५२२। ० ১5 « आ--क्ुकाव-परीक्षा ५२२:५२८ | .. '““आचश्यकता श्रश-५०२३१। .. “ .... २--मुकाव पर ध्यान न देने के दुष्परिणाम ५२२ 0. दै->झुआव ओर बुद्धि ५२४। १ ' भ-खुकाव करा पता कैमे त्तगाया जा सकता है? ५२५.५२७। ` ५-सल्लका कतस्य नर७ परमा क का 00 सहायक पुरतकें ५२८-५९६ । नि৮৭8০৫




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now