पाश्चात्य शिक्षा का इतिहास | Paschatya Shiksha Ka Itihas

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : पाश्चात्य शिक्षा का इतिहास  - Paschatya Shiksha Ka Itihas

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about डॉ. सरयू प्रसाद चौबे - Dr. Saryu Prasad Choubey

Add Infomation About. Dr. Saryu Prasad Choubey

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
| ६ | २--इटली में पुनरुत्थान १८८ | 'हैे>-पुनरुत्थान काल में शिक्षा का रुख १८६-१६२ | ( १ ) मानवतावादी प्रादशं १०९, (२) स्वी-क्िक्षा की समस्या पर प्रभावं १६०, ( ३ ) पास्य-वस्तु का साधारण रूप १६०; ( ४ ) नैतिक और धार्मिक शिक्षा १६१, ( ५ ) प्राथमिक, माध्यमिक और उच्चतर शिक्षा १६१, ( ६ ) बाल-मनोविज्ञान पर कम ध्यान १९२। ४--मानवतावादी शिक्षा १९२-१९६ । (१) उदहंश्य १६२, (२ ) पाठ्य-वस्तु पाठन-विधि १६३, ( ३ ) रचना-शैली शारीरिक शिक्षा तथा कु शिक्षक व लेखक १६२, ( ४ ) मानवतावादी शिक्षा के दोष व गुण १६५-१६६, (५) सानवतावादी शिक्षा का प्रभाव १६६ ॥। ५--डसीडिरियस इरेसमस १९७-१९८ । (१) उसका जीवन १६७ (२) मानवतावाद की श्रोर १६८, ( ३ ) इरंसमस की पुस्तक १६०, ( ४ ) विचारधारा १६६ { ५) शिक्षा-सिद्ान्त १६६, ( ६ ) दिक्षा का उदेदय २००, (७) शिक्षा की पद्धति २०१, (८) प्रारम्भिक शिक्षा २०२-२०६; (६) भाषा व्याकरण की शिक्षा २०१ ( १०) शिक्षा का संगठन २०२, ( ११ ) समाज पर प्रभाव २०२, सारांश २०२-२०६, सहायक- प्रत्थ २०६ | उन्नीसवाँ अध्याय सुधार-कालीन शिक्षा २०७-२ रय भूमिका २०७, उत्तरी यूरोप और सुधारवाद २०७, मुद्रश-्यन्त् का आविष्कार २०८, राष्ट्रीयता और राष्ट्रभाषा' २०८, मार्टिन घूधर २०८; प्रीटेस्टेशट मत का उदय २०६, नैतिक नया धा्िक क्षेत्र २०९, शिक्षा का रूप २१०, जमेनी ११०, इंगलैण्ड २१९१, प्रीटेस्टेन्ट शिक्षा २१२-२१३, कैथोलिक शिक्षा २१४-२१६, उपसंहार २१६, मार्टिन- लुथर २२०-२२२, कैल्बित २२२१-२२३, जॉन नॉक्स और ज्विज्भली २२४, सारांश २२४-२१८, सहायक ग्रन्थ २२८।




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now